गीतिकाव्य

अरे द्वारपालों कन्हैया से कह दो

देखो देखो यह गरीबी, यह गरीबी का हाल,
कृष्ण के दर पे, यह विश्वास ले के आया हूँ।
मेरे बचपन का दोस्त, है मेरा श्याम,
येही सोच कर मैं आस ले कर के आया हूँ

सांवली सूरत पे मोहन दिल-Khattu shyam Bhajan

सांवली सूरत पे मोहन दिल

सांवली सूरत पे मोहन, दिल दीवाना हो गया ।
दिल दीवाना हो गया, दिल दीवाना हो गया ॥

एक तो तेरे नैन तिरछे, दूसरा काजल लगा ।
तीसरा नज़रें मिलाना, दिल दीवाना हो गया ॥

Mahisasur-Mardini

महिषासुरमर्दिनि स्तोत्रं

मां दुर्गा हिंदुओं की प्रमुख देवी है| जिन्हें शक्ति की देवी कहा जाता है| इनकी तुलना परम ब्रह्म से की गई है| इन्हें जगदंबा भी कहते हैं| इन्हें गुणवती योग माया, बुद्धत्व की जननी बताया गया है

Jagat ke Rang-prayer

जगत के रंग क्या देखूं – Jaya Kishori

जगत के रंग क्या देखूं
तेरा दीदार काफी है,
क्यों भटकूँ गैरों के दर पे,
तेरा दरबार काफी है |
नहीं चाहिए ये दुनियां के,
निराले रंग ढंग मुझको,

अच्युतम केशवं- achyutam keshavan

अच्युतम केशवं- achyutam keshavan अच्युतम केशवं- achyutam keshavan अच्युतम केशवं  कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी वल्लभं| कौन कहते हैं भगवान आते नहीं, तुम मीरा के जैसे बुलाते नहीं। अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं, जानकी वल्लभं| कौन कहतेें है भगवान खाते नहीं, बेर शबरी के जैसे खिलाते नहीं। अच्युतम केशवं- achyutam keshavan अच्युतम केशवं कृष्ण …

अच्युतम केशवं- achyutam keshavan Read More »