aarati keejai hanumaan- आरति कीजै हनुमान

aarati keejai hanumaan- आरति कीजै हनुमान   aarati keejai hanumaan- आरति कीजै हनुमान आरति कीजै हनुमान लला की, दुष्ट दलन रघुनाथ कला की |  जाके बल से गिरिवर कांपै, रोग – दोष जाके निकट न झांपै। अंजनीपुत्र महाबलदाई, सन्तन के प्रेम सदासहाई। aarati keejai hanumaan- आरति कीजै हनुमान देवीरा रघुनाथ पठाये, लंकाजारि सिया सुधि लाये। …

aarati keejai hanumaan- आरति कीजै हनुमान Read More »