Aarti Kunjbihari ki-आरती कुंजबिहारी की

Aarti Kunjbihari ki-आरती कुंजबिहारी की Aarti Kunjbihari ki-आरती कुंजबिहारी की आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥ आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला । श्रवण में कुण्डल झलकाला, नंद के आनंद नंदलाला । गगन सम अंग कांति काली, राधिका चमक रही आली …

Aarti Kunjbihari ki-आरती कुंजबिहारी की Read More »