रक्षाबंधन -2020 (Raksha Bandhan) कलाई पर बंधा हुआ यह सुरक्षा का एक वादा है

Spread the love
75 / 100 SEO Score
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan)
रक्षाबंधन (Raksha Bandhan)

रक्षाबंधन (Raksha Bandhan)

रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) हिंदुओं के सबसे बड़े त्योहार के रूप में मनाया जाता है | इसमें बहन भाई को राखी बांंधती है और उसके बदले में भाई, बहन को रक्षा का वचन देता है, यह उत्सव भाई-बहन के प्रेम के रूप में मनाया जाता है | यह एक परिवारिक उत्सव है, यह उत्सव हर भाई बहन के लिए यादगार का दिन होता है, पूरा परिवार इस दिन, एक जगह इकट्ठा होता है या कई-कई जगह, बहन हर भाई के घर पर उसे राखी बांधने जाती है और उसे अपना प्यार जताते हुए सुख-समृद्धि का तोहफा देकर आती है और उसके भाई भी इस यादगार दिन को कभी नहीं भूलते |

मारवाड़िओं में तो बहन, भाभी को भी राखी बांधती है जिसे लुम्बा कहते हैं और यह दिन सबके ळिए काफी यादगार होता है, भाभियाँ भी नंन्द के प्रति एक अलग तरह का सम्मान रखती हैंं | आज के दिन खानपान हर चीज का पूरा ध्यान रखा जाता है क्योंकि यही एक दिन होता है जिसका पूरे साळ इन्तजार होता है | रक्षाबंधन का त्यौहार प्रतिवर्ष श्रावण मास के पूर्णिमा को ही मनाया जाता है | इसे राखी पूर्णिमा कहा जाता है और इस साल 2020 में यह सोमवार 3 अगस्त, 2020 को मनाया जाएगा |

Raksha Bandhan

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त :
राखी बांधने के समय भद्रा नहीं होना चाहिए | कहतें हैं कि रावण की बहन ने उसे भद्रा काल में ही राखी बांधी थी, इसलिए रावण का विनाश हो गया | 3 अगस्त को भद्रा सुबह 9:29 मिनट तक है | राखी का त्यौहार सुबह 9:30 से शुरू हो जाएगा, दोपहर को 1:35 से लेकर शाम 4:35 तक बहुत ही अच्छा समय है |उसके बाद शाम को 7:30 से लेकर रात 9:30 के बीच में भी बहुत अच्छा मुहूर्त है, राखी उसी अनुसार बांधा जाए |

Raksha Bandhan

रक्षाबंधन के इस पावन पर्व पर, हम आप सबको बधाई देतें हुए खुशी का इज़हार करते है और भगवान से दुआ करते हैं |

Happy Raksha Bandhan to all brother and sister