अच्युतम केशवं

अच्युतम केशवं- Best Krishna Bhajan for 365 days

Please Subscribe us
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Select your Language at the top right bar

अच्युतम केशवं: श्रीमद्भागवत के अनुसार, भगवान श्री कृष्ण का जन्म द्वापर युग में, भाद्रपद माह में कृष्ण पक्ष के रोहिणी नक्षत्र में हुआ था | उन्होंने भगवान श्री विष्णु के दसवें अवतार के रूप में कुछ ख़ास उद्देश्य की पूर्ति हेतु, इस पृथ्वी पर जन्म लिया था | कृष्ण के समकालीन महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित श्रीमद्भागवत और महाभारत में श्री कृष्ण के चरित्र विस्तुत रूप से उल्लेख किया है।

अच्युतम केशवं
achyutam keshavam

जब इन्सान दुखी हो तो संजय मित्तल का गाया यह एक गीत अवश्य सुने

भगवान श्री कृष्ण को यशोदा और नंद ने पाला और उनका जन्म गोकुल में ही व्यतीत हुआ | बाल्यावस्था में उन्होंने बड़े-बड़े कार्य किए जो कि किसी मनुष्य के लिए संभव नहीं था | उन्होंने कंश का वध किया, पूतना जैसी कई राक्षस व राक्षसीन को मारा | द्वारका नगरी की स्थापना की और वहां अपना राज्य बसाया | उन्होंने महाभारत के युद्ध में पांडवों की मदद की और विभिन्न विपत्तियों से उनलोगों की रक्षा की | महाभारत के युद्ध में उन्होंने अर्जुन के सारथी की भूमिका अदा की और रणक्षेत्र में अकेले होते हुए भी उन्होंने उस युद्ध को जीता | महाभारत में इसका विस्त्रित्त विवरण है |

वैष्णव धर्म से जुड़े लोग कृष्ण जन्माष्टमी दुसरे दिन मानते हैं, हालाँकि वे भगवान श्री कृष्ण की पूजा प्रमुख रूप से हर दिन सुबह-शाम करते हैं | यहाँ तक की वे भगवान कृष्ण की सेवा, उन्हें अपने बच्चेें की तरह समझते हुए करते है, परन्तु इस ख़ास दिन का इंतज़ार उन्हें सदैव रहता है | आधी रात में, वे भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव मनाते हुए सारी रात भजन-कीर्तन में लगे रहते हैं ।

कृष्ण जन्माष्टमी 2021 में कब है जाने

कृष्ण के जन्म की खुशी के उपलक्ष में कृष्ण जन्माष्टमी का यह त्यौहार मनाया जाता है और यह हिन्दुओं का सबसे महत्वत्वपूर्ण त्यौहार है | यह प्राचीन काल से चला आ रहा है | हर हिन्दू इस पुरे दिन उपवास रखतें हैं और रात में लोग अपने-अपने घरों में भगवान बालकृष्ण के जन्म का उत्सव बड़े आनंदपूर्वक मनाते हैं |

भक्ति – संगीत

अच्युतम केशवं  कृष्ण दामोदरं,
राम नारायणं जानकी वल्लभं|

कौन कहते हैं भगवान आते नहीं,
तुम मीरा के जैसे बुलाते नहीं।

अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
राम नारायणं, जानकी वल्लभं|

कौन कहतेें है भगवान खाते नहीं,
बेर शबरी के जैसे खिलाते नहीं।

अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
राम नारायणं जानकी वल्लभं|

कौन कहतेें है भगवान सोते नहीं,
माँ यशोदा के जैसे सुलाते नहीं।

अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
राम नारायणं जानकी वल्लभं|

कौन कहतेें है भगवान नाचते नहीं,
गोपियों की तरह हम नचाते नहीं।

अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
राम नारायणं जानकी वल्लभं|

कौन कहतेें है भगवान नचाते नहीं,
गोपियों की तरह हम नचाते नहीं।

अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
राम नारायणं जानकी वल्लभं|

कृष्ण गोबिंद गोपाल गाते चलो
नाम जपते चलो काम करते चलो

अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
राम नारायणं जानकी वल्लभं|

जगत के रंग क्या देखू -जया किशोरी-click kare

Achyutam Keshavam lyrics in English:

Achyutam Keshavam Krishna Damodaram,
Ram Narayanam Janaki Vallabham
Achyutam Keshavam Krishna Damodaram
Ram Narayanam Janaki Vallabham
Kaun Kehte Hai Bhagavan Aate Nahi
Tum Meera Ke Jaise Bulate Nahi Achyutam . . .

Kaun Kehte Hai Bhagavan Khate Nahi
Ber Shabri Ke Jaise Khilate Nahi Achyutam . . .
Kaun Kehte Hai Bhagavan Sote Nahi
Maa Yashodha ke Jaise Sulate Nahi Achyutam . . .
Kaun Kehte Hain Bhagavan Nachte Nahi
Gopiyo ki Tarah Tum Nachate Nahi Achyutam . . .
Ram Narayanam Janaki Vallabham

achyutam keshavam lyrics on YouTube

Singer: Madhuraa Bhattacharya

भगवान श्री कृष्ण की कहानी सुनने के लिए क्लिक करें